हमनी के बारे मे

साहित्यांगन (भोजपुरी साहित्य सरिता ) कुछ ऊर्जावान आउर समर्पित  लोगन के अपना मातृभाषा के साहित्यिक बढन्ती कs एगो प्रयास ह । साहित्यांगन के कोशिश इहे रही कि भोजपुरी साहित्य, संस्कृति, संस्कार आ भोजपुरियापन दुनिया के सोझा राखल जा सके । दुनिया के अपने ए समृद्ध भाषा के बारे मे बतावल जा सके आउर अपने लोक संस्कृति से दुनिया के परिचय करावल जा सके ।

साहित्यांगन के कोशिश इहों रही कि भोजपुरिया नवहा लोग भोजपुरी मे लिखो , भोजपुरी साहित्य  के अनुभवी लोगन के आशिर्वाद रुपी लेख से आवे वाली पीढी के परिचय होखे आ हमनी के माई भाखा भोजपुरी के भंडार मे बढंती होखस ।

साहित्यांगन भोजपुरी के आठवा अनूसुची मे शामिल करे खाति हो रहल हर प्रयास के खुल समर्थन मे रहेला और यथासंभव आपन योगदान देवे खाति तत्पर रहेला ।