भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा ला जन आंदोलन जरुरी बा- लाल बिहारी लाल

lal-bihari-lal

नई दिल्ली।भोजपुरी आज दुनिया केसोलह गो देश में आ देश के कई राज्य- बिहारी,यू.पी., दिल्ली, मध्य प्रदेश,झारखंड,छतीसगढ़,महाराष्ट्र, गुजरात आदी में करोड़ो लोग द्वारा बोलल जाता पर अबहीतक एकरा के संविधान में दर्जा ना मिलल जबकि एकरा से कम बोलेवाला भाषा संविधान के आंठवीअनुसूची में शामिल कइल गइल बा। भोजपुरी अबही ले संविधान में शामिल नइखे एकर दू गोमुख कारण बा। पहिला कारण ई बा कि भोजपुरी बोलेवाला लोग असंगठित बा जेकर फायदाजनप्रतिनिधि लोग खूब उठावता। चुनाव आवते सबके ईयाद आवेला आ फेर चुनाव जीतला के बाद ठंढ़ा बास्ता में डालदिआला।…

Read More

सरस्वती वंदना

saraswati

लिहले  हिय सागर भरिह  ज्ञान गागर माई   गुन आगर नमन वीणा वादिनी || हो मइया !  सादर नमन …… नरियर फूल अक्षत चन्नन  मूल रक्षत उहाँ  बसत सत्सत सदजन हिय हुलासिनी || हो मइया !  सादर नमन …… सिर  नवायीं चरण करs अज्ञान छरण बीपत  करs हरण सरस मन निवासिनी || हो मइया !  सादर नमन …… विनय से होत जय मिट जाई कुल भय होखिहें  बिपत छय मनुज दरद विनासिनी || हो मइया !  सादर नमन …… ब्रम्ह  दुलारी  माई मन  अंजोर  लाई आपन  मन  भाई कमल नयन विराजिनी…

Read More