भोजपुरी काव्य संगोष्ठी सम्पन्न

poetry

राजघाट पर गीता कुरान लेके जे किरिया खाई उहे लोग सत्ता पाई, उहे लोग सता पाई ! पालम, दिल्ली, दिंनाक 23 नवम्बर, सायं 3 बजे से अखिल भारतीय भोजपुरी लेखक संघ और  पुरवइया द्वारा आयोजित भोजपुरी कवि गोष्ठी की अध्यक्षता करते भोजपुरी के सुप्रसिद्ध कवि डॉ गोरख प्रसाद मस्ताना ने भोजपुरी  इन  पंक्तियों को पढ़ा, और भोजपुरी काव्य संगोष्ठी को एक नई उंचाई प्रदान कर दी. आज इस  कार्यकम्र में भोजपुरी कवि नवल किशोर निशात  ने भ्रूण हत्या पर रोक हेतू निवेदन करते अपनी रचना  ‘ हमहूँ दिलवे  के टुकड़ा तोहार ऐ मइया’ पढ़…

Read More

संवरिया मोरे

djp

रिम झिम पड़ेले फुहरिया , संवरिया मोरे । रहिया निहारत  गुजरिया , संवरिया मोरे ॥   बीतल जेठ अब घन घहराइल चढ़त असाढ़ रोपनी नियराइल रहि रहि पुकारत बहुरिया , संवरिया मोरे ॥   लहरत बिरवा  सोहरे लागल बरसत धार मे मनवा पागल उड़ी गइल मोर निनरिया , संवरिया मोरे ॥   कुल्हि सिवाने चलत रोपनिया खेत मे  गावत नइकी धनियाँ मचलेले मोर कमरिया , संवरिया मोरे ॥   संगवे तोहरे  हमहूँ चलती सभके संगवे धनवाँ रोपती तोसे मिलाई नजरिया , संवरिया मोरे ॥   जयशंकर प्रसाद द्विवेदी  

Read More

एसीड एटैक पर अधारित उपन्यास लभ या औबसेसन( “Love or Obsession”)का लोकार्पण

lalb

लालबिहारी लाल नई दिल्ली।गांधीशांति प्रतिष्ठान,नई दिल्ली में डॉ. आशीष तंवर द्वारा लिखित औरअनुराधा प्रकाशन,नई दिल्ली द्वारा प्रकाशितएसिड एटैक पर आधारित अंग्रेजी उपन्यास लभ या औबसेसन“LOVE OR OBSESSION”का लोकार्पण मुख्य अतिथि सर्वोच्च न्यायालय केपूर्व न्यायाधिपति श्री अनिल दवे, एसिड अटैक पीड़ितों को सहारा देने वाली संस्था“छांव”के संस्थापक श्री आलोक दीक्षित समाज सेविका तथा अनुराधा प्रकाशन कीसंरक्षक श्रीमती कविता मल्होत्रा,पाक्षिक पत्रिका‘उत्कर्ष मेल’और अनुराधा प्रकाशन केप्रकाशक एवं संपादक श्री मनमोहन शर्मा “शरण”द्वारालेखक- डॉ. आशीष तंवर की उपस्थिति में किया गया । इस कार्यक्रमके मुख्य अतिथि उच्चतम न्यायालय के न्यायाधिपति और राष्ट्रीय विधिक सेवा…

Read More