दीन-दुखियों एवं आदिवासियों की महान लेखिका-महाश्वेता देवी

mSD.1

– लाल बिहारी लाल पानी की तरह श्वेत जो हर रंगो में समाहित हो जाता है उसी के अनुरुप ता-उम्र दीन दुखियों के लिए तत्पर खासकर आदिवासी एंव पिछड़ों के लिए देवी के रुप में काम करने वाली शख्सियत का नाम है-महाश्वेता देवी। इनका जन्म तत्कालिन ईस्ट बंगाल के ढाका शहर में 14 जनवरी 1926 को हुआ था।वर्तमान में ढ़ाका बंगलादेश की राजधानी है। इनके पिता मनीष घटक भी कवि एंव उपन्यासकार थे। उनकी माता धारित्री भी लेखिका एवं समाजसेविका थी। इनकी प्रारंभिक शिक्षा ढ़ाका में ही हुई। भारत विभाजन…

Read More