भोजपुरी काव्य संगोष्ठी सम्पन्न

poetry

राजघाट पर गीता कुरान लेके जे किरिया खाई उहे लोग सत्ता पाई, उहे लोग सता पाई ! पालम, दिल्ली, दिंनाक 23 नवम्बर, सायं 3 बजे से अखिल भारतीय भोजपुरी लेखक संघ और  पुरवइया द्वारा आयोजित भोजपुरी कवि गोष्ठी की अध्यक्षता करते भोजपुरी के सुप्रसिद्ध कवि डॉ गोरख प्रसाद मस्ताना ने भोजपुरी  इन  पंक्तियों को पढ़ा, और भोजपुरी काव्य संगोष्ठी को एक नई उंचाई प्रदान कर दी. आज इस  कार्यकम्र में भोजपुरी कवि नवल किशोर निशात  ने भ्रूण हत्या पर रोक हेतू निवेदन करते अपनी रचना  ‘ हमहूँ दिलवे  के टुकड़ा तोहार ऐ मइया’ पढ़…

Read More

संवरिया मोरे

djp

रिम झिम पड़ेले फुहरिया , संवरिया मोरे । रहिया निहारत  गुजरिया , संवरिया मोरे ॥   बीतल जेठ अब घन घहराइल चढ़त असाढ़ रोपनी नियराइल रहि रहि पुकारत बहुरिया , संवरिया मोरे ॥   लहरत बिरवा  सोहरे लागल बरसत धार मे मनवा पागल उड़ी गइल मोर निनरिया , संवरिया मोरे ॥   कुल्हि सिवाने चलत रोपनिया खेत मे  गावत नइकी धनियाँ मचलेले मोर कमरिया , संवरिया मोरे ॥   संगवे तोहरे  हमहूँ चलती सभके संगवे धनवाँ रोपती तोसे मिलाई नजरिया , संवरिया मोरे ॥   जयशंकर प्रसाद द्विवेदी  

Read More

एसीड एटैक पर अधारित उपन्यास लभ या औबसेसन( “Love or Obsession”)का लोकार्पण

lalb

लालबिहारी लाल नई दिल्ली।गांधीशांति प्रतिष्ठान,नई दिल्ली में डॉ. आशीष तंवर द्वारा लिखित औरअनुराधा प्रकाशन,नई दिल्ली द्वारा प्रकाशितएसिड एटैक पर आधारित अंग्रेजी उपन्यास लभ या औबसेसन“LOVE OR OBSESSION”का लोकार्पण मुख्य अतिथि सर्वोच्च न्यायालय केपूर्व न्यायाधिपति श्री अनिल दवे, एसिड अटैक पीड़ितों को सहारा देने वाली संस्था“छांव”के संस्थापक श्री आलोक दीक्षित समाज सेविका तथा अनुराधा प्रकाशन कीसंरक्षक श्रीमती कविता मल्होत्रा,पाक्षिक पत्रिका‘उत्कर्ष मेल’और अनुराधा प्रकाशन केप्रकाशक एवं संपादक श्री मनमोहन शर्मा “शरण”द्वारालेखक- डॉ. आशीष तंवर की उपस्थिति में किया गया । इस कार्यक्रमके मुख्य अतिथि उच्चतम न्यायालय के न्यायाधिपति और राष्ट्रीय विधिक सेवा…

Read More

बिला रहल थाती के संवारत एगो यथार्थ परक कविता संग्रह “खरकत जमीन बजरत आसमान “

bbm1

मनईन के समाज आउर समय के चाल के संगे- संगे  कवि मन के भाव , पीड़ा , अवसाद आउर क्रोध के जब शब्दन मे बान्हेला , त उहे कविता बन जाला । आजु के समय मे जहवाँ दूनों बेरा के खइका जोगाड़ल पहाड़ भइल बा , उहवें साहित्य के रचल , उहो भोजपुरी साहित्य के ,बुझीं  लोहा के रहिला के दांते से तूरे के लमहर कोशिस बा । जवने भोजपुरी भाषा के तथाकथित बुद्धिजीवी लोग सुनल भा बोलल ना चाहेला , उहवें  भोजपुरी  के कवि / लेखक के देखल ,…

Read More

विश्वकर्मा समाज ने समुदाय को बचाने की मुहीम तेज की

vis

लाल बिहारी लाल नई दिल्ली । विश्वकर्मा समाज सनातन वैदिक शिल्प विश्वकर्मा ब्राह्मण समुदाय आमतौर पर और व्यापक रूप से शिल्पकला के स्वामी के नाम से जाना जाता रहा है इन्होंनेभारत की शिल्प और वास्तुशास्त्र परंपरा के लिए बहुत योगदान दिया है। शिल्पकला मेंपत्थर की प्रतिमाये और मंदिर के लिये पत्थरों की मूर्तियों,कांस्य,पीतल,कांसा,पंच धातु की प्रतिमाये औरमूर्तियों लकड़ी की नक्काशी प्रतिमाये और मुर्तिया आदि का निर्माण करना होता है।प्रत्येक काम मे बारीक जानकारी अच्छी कल्पना रचनात्मकता और ध्यान काम करने कीआवश्यकता होती है। विश्वकर्मा समुदाय द्वारा बनाई गई मूर्तियां आज…

Read More

सरिता साज फहराएंगी श्रीलंका मे भोजपुरी का परचम

सरिता

सरिता साज़ आज के समय मे जानी मानी भोजपुरी लोक गायिका है। सरिता साज़ भिखारी ठाकुर रंगमंडल से जुड़ी हुई हैं। सरिता साज़ ने देश-के कई शहरों में जैसे- त्रिपुरा, गुवाहाटी, नागपुर, इलाहाबाद, मोतिहारी, छपरा (बिहार), अमरावती, वर्धा (महाराष्ट्र), दिल्ली इत्यादि के अलवा विदेशों में जैसे- पाकिस्तान के कराची, लाहौर, इस्लामाबाद, भूटान में भी अपने गायन का जलवा बिखेरा है। लोकगीत के अलावा इनहोने शास्त्रीय संगीत, सुगम संगीत के साथ साथ गजल की भी प्रस्तुतियाँ दी हैं। अभी सरिता साज़ इंडियन कल्चर सेंटर ऑफ श्रीलंका के बुलावे पर 21 जून…

Read More

प्रो. नित्यानंद पाण्डेय को पं. मदनमोहन मालवीय पुरस्कार

natyanand

शिक्षा से जुड़े सभी के लिए अत्यंत गर्व का विषय है कि विगत 30 मई को राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति महामहिम प्रणव मुखर्जी द्वारा असम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर नित्यानंद पाण्डेय को पहला ‘पंडित मदनमोहन मालवीय पुरस्कार’ दिया गया। बताते चले कि इस वर्ष पहली बार ‘पंडित मदनमोहन मालवीय पुरस्कार’ की घोषणा हुई है। शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान हेतु दिया जाने वाला यह पुरस्कार इस वर्ष प्रोफेसर नित्यानन्द पाण्डेय को उनके उत्कृष्ट योगदानों के लिए दिया गया है। इस पुरस्कार की घोषणा पिछले 10 अप्रैल को की गई थी…

Read More

तिनका:एक सफरनामा’ का लोकार्पण,काव्य गोष्ठी एवं सम्मान समारोह आयोजित

tinka_

लालबिहारी लाल नईदिल्ली। अनुराधा प्रकाशन,नई दिल्ली द्वारा प्रकाशित पुस्तक ‘तिनका : एक सफरनामा’ का लोकार्पण हिन्दी भवन में मुख्य अतिथि डॉ–सरोजिनी प्रीतम,विशिष्ट अतिथि डॉ– रामप्रकाश शर्मा, श्रीमती कविता मल्होत्रा एवं प्रकाशकश्री मनमोहन शर्मा ‘शरण’आदि के कर कमलों द्वारा सम्पन्न हुआ । कार्यक्रम की अध्यक्ष प्रो. (ग्रुप कैप्टन) ओ.पी. शर्मा ने किया।इस पुस्तक के लेखक संजीव कुमार दीक्षित ‘बेकल दुबई में रह रहे हैं। इस कार्यक्रम हेतुवह विशेष रुप से दुंबई से आए हुए थे । प्रकाशक एवं संपादक श्री मनमोहन शर्मा ‘शरण’ ने पुस्तक पर प्रकाश डालते हुए कहा कि…

Read More

संस्कार भारती नंदग्राम की कवि गोष्ठी सम्पन्न :

33

आज दिनांक 21/05/2017 को बी एस फार्म मे संस्कार भारती नंदग्राम इकाई द्वारा आहूत साहित्य संगोष्ठी हिन्दी साहित्य मनीषी महेश सक्सेना जी और डॉ मधु भारतीय की अध्यक्षता के साथ ब्रज नन्दन पचौरी जी के संतुलित संचालन मे आयोजित हुई । संस्कार भारती की यह साहित्य संगोष्ठी कई मायने मे अद्वितीय रही । आज इस गोष्ठी मे जिसका विषय “मेरा बचपन ” था , उस पर सभी कवियों ने अपनी अपनी रचनाएँ प्रस्तुत की । आज गोष्ठी मे हिन्दी , भोजपुरी और संस्कृत भाषा की त्रिवेणी का अद्भुत संगम अविस्मरणीय…

Read More

शिरडी में तीन दिवसीय साहित्य महोत्सव धूमधाम से सम्पन्न

Sai_Dham

लाल बिहारी लाल नई दिल्ली। अखिल भारतीय सर्वभाषा संस्कृति समन्वय समिति के तत्वावधानमें तीन दिवसीय साहित्य महोत्सव शिरडी धाममें धूमधाम से सम्पन्न हुआ। इस आयोजन के सुत्रधार संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं.श्री सुरेश नीरव तथा अध्यक्षता करते हुए स्वच्छता के प्रतीक पद्म-विभूषण,शलाका पुरुष पं. श्री विन्देश्वरपाठक जी एवं उनकी पूरी टीम को जाता है वहीं धर्म के ध्वजवाहक महामण्डलेश्वर स्वामीप्रज्ञानन्द जी महाराज जो मुख्य अतिथि एवं निर्णायक की भूमिका में मंच पर स्वयंशोभायमान थे, को भी जाताहै। आयोजन का प्रथम सत्रउद्घाटन समारोह, दीप-प्रज्वलनके साथ, आगतअतिथियों के सम्मान स्वरुप माल्यार्पण, अंग…

Read More